How to Use ATM And Full Form of ATM? | एटीएम का उपयोग कैसे करें?

साथियों नमस्कार| कैसे हैं आप सब? I hope, अच्छे ही होंगे| फ्रेंड्स, आज हम आपके लिए एक और जानकारी लेकर आए हैं| आज हम आपको बताने वाले हैं Full Form of ATM के बारे में| दोस्तों, आप में से बहुत कम लोग ऐसे होंगे जिन्होंने कभी न कभी किसी न किसी काम के लिए ATM का use न किया हो| 

लेकिन फिर भी Full Form of ATM आप में से शायद ही किसी को पता हो| आज हम आपको Full Form of ATM के बारे में बताएंगे जो वाकई में Full Form of ATM है| क्योंकि बहुत से लोग ऐसे हैं जो अपने हिसाब से कुछ भी Full Form of ATM बना लेते हैं परन्तु वो सच नहीं होता है|

आज हर कोई अपने जरूरी कामों के लिए atm का इस्तेमाल कर रहा है| अगर हम आपसे पूछें की Full Form of ATM क्या है तो आप शायद ही बता पाएं| क्यूंकी atm का use तो हम कर लेते हैं पर Full Form of ATM नहीं जानते| तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि Full Form of ATM क्या है| इसके साथ ही हम आपको ये भी बताएँगे कि ATM का प्रयोग कैसे किया जाता है|

इस article में आप Full Form of ATM के अलावा और भी बहुत से facts जानने वाले हैं| हमारे साथ अंत तक बने रहिएगा और हमारी पोस्ट अगर पसंद आए तो अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिए| चलिए शुरू करते हैं|

Full Form of ATM

दोस्तों, चाहे शॉपिंग करना हो, या पैसों का लेनदेन करना है, ATM बूथ में हम जरूर जाते हैं| लेकिन क्या आपको पता है की Full Form ऑफ़ ATM क्या है ? Full Form of ATM है Automated Teller Machine| आज के जमाने में ये मशीन हमारे लिए किसी वरदान से कम नहीं है|

ATM की मदद से हम किसी भी समय 24×7 पैसे निकाल सकते हैं| इतना ही नहीं, अगर हमें पैसों को किसी के खाते में जमा करना है तो इसके लिए भी अब हमें बैंक के अंदर घंटों लाइन में खड़े रहने की जरूरत नहीं है| हम ATM जाकर बड़ी ही आसानी से पैसों को दूसरे के account में transfer कर सकते हैं|

ATM को किसने बनाया

दोस्तों, आप में से बहुत ही कम लोग ये जानते होंगे कि ATM का निर्माण आखिर कब, कहाँ और किसने किया था ? तो चलिए हम आपको बताते हैं| दरअसल दुनिया की सबसे पहली ATM मशीन के निर्माण का श्रेय जाता है लूथर जार्ज सिमियन को| ये एक अमेरिकी नागरिक थे| 

उन्होंने ही सबसे पहले ATM का आविष्कार किया था| उन्होंने इसका आविष्कार 1939 में किया था| आपको बता दें, दुनिया की पहली ATM मशीन में केवल दो काम किये जा सकते थे| एक तो उसमे आप चेक जमा करा सकते थे और दूसरे उसमे cash भी जमा किया जा सकता था| हालांकि महज़ 6 महीनों के अंदर ही इस मशीन को बंद करना पड़ा| क्यूंकी बहुत अधिक लोग इस machine का use नहीं कर रहे थे|

दुनिया की पहली Cash देने वाली ATM Machine

दुनिया की पहली Cash देने वाली ATM Machine

दोस्तों, अभी ऊपर हमने आपको बताया की Full Form of ATM क्या है? अब तो आप भी जान चुके हैं की Full Form of ATM क्या है| तो ये अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भी समझाइए की Full Form of ATM क्या होती है| साथियों अब बारी है ये बताने की कि दुनिया की सबसे पहली पैसे देने वाली ATM मशीन किसने बनाई थी और क्यों इसे बनाने का ख़याल उनके दिमाग में आया| ये बात है वर्ष 1960 की| एक व्यक्ति बैंक में पैसे लेने के लिए गया| उसे पैसों की सख्त जरूरत थी| उसे bank बंद मिला और वो पैसे नहीं निकाल पाया| तब उस व्यक्ति के दिमाग में एक जूनून सवार हो गया था|

उसने सोचा की जैसे उसे वक़्त रहते पैसे नहीं मिल पाए क्यों की बैंक बंद था, ऐसे कितने ही लोग होंगे जो इस परेशानी से जूझ रहे होंगे| तभी उन्होंने तय कर लिया था की वो ऐसी machine बनाएंगे की चाहे दिन हो या आधी रात, जरूरत पड़ने पर हर कोई पैसे निकलवा सके| बैंक के खुलने या बंद होने से या गजटेड holiday होने से भी कोई फर्क न पड़े| उसने सोचा की जब एटीएम से chocolate निकल सकती है तो पैसे कैसे नहीं निकल सकते|

उसने मशीन के निर्माण की ठान ली थे और उस पर काम करना शुरू कर दिया था| आखिरकार उनका यही जुनून काम कर गया और उन्होंने Automated Teller Machine बना डाली| क्या आप जानते हैं की उस व्यक्ति का नाम क्या है ?

उनका नाम है John Shefard| भारत के साथ जॉन का गहरा नाता था| इनका जन्म भारत के ही मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग में 23 june 1925 को हुआ था| हालांकि इस ATM Machine को बनाने में जॉन को कई साल लग गए लेकिन उन्हें कामयाबी मिल ही गई| इन्ही की बदौलत आज हम 24 घंटे में कभी भी ATM Center पर जाकर मशीन से पैसे निकाल सकते हैं|

कहाँ लगाई गई थी पहली मशीन

दोस्तों Full Form of ATM के बारे में जानना आपके लिए इसलिए जरूरी था क्योंकि इससे आप update रहेंगे| अगर कोई आप से Full Form of ATM के बारे में पूछेगा तो आप बता पाएंगे| अब ये भी जान लीजिए की कहाँ लगाई गई थी पहली ATM machine| साथियों वर्ष 1967 में इस मशीन को पहली बार लोगों के लिए प्रदर्शित किया गया था| दुनिया की पहली ATM मशीन को लंदन के बार्कलेज बैंक की शाखा में ही लगाया गया था| ताकि लोग इसका इस्तेमाल करके पैसे निकलवा सकें|

June 27, 1967 से पहले किसी भी बैंक की शाखा में 24 घंटे चलने वाली पैसे निकालने वाली मशीन की सुविधा प्रदान नहीं की गई थी| हालांकि शुरू में ऐसा भी हुआ की पहले लोग इस बैंक से voucher लेते थे और फिर ही पैसे निकाल पाते थे| लेकिन 1968 में card के जरिए पैसे निकालने की मशीन भी इसी बैंक में स्थापित कर दी गई थी| पूरी दुनिया के लोगों के समय की कीमत को समझने वाले और बैंकिंग को आसान बनाने वाले जॉन शेफर्ड ने वर्ष 2018 में 84 साल की उम्र में इस दुनिया को gud bye कह दिया था|

क्यों चार अंकों का ही होता है ATM का PIN

दोस्तों इस बात की तो हम गारंटी ले सकते हैं की आपको इस बात की जानकारी नहीं होगी कि ATM Card का पिन चार digit का ही क्यों होता है| दरअसल इसके पीछे एक दिलचस्प किस्सा है| जॉन को शुरुआत में 6 अंकों का ही पिन दिया गया था|

लेकिन बहुत बार ऐसा हुआ की जॉन की wife 6 अंकों का पिन भूल जाती थी| यही कारण था की जॉन ने एक ऐसी setting कर दी अपनी machine में जो केवल चार digit का password ही accept करती थी| तब से लेकर आज तक ATM Card  के लिए केवल चार अंकों का ही password दिया जाता है|

भारत में पहली बार कब लगा?

दोस्तों, full form of atm तो आप जान ही चुके हैं लेकिन आप ये जरूर जानना चाह रहे होंगे की भारत में सबसे पहला ATM कब और कहाँ लगाया गया था ? चलिए हम आपकी इस जिज्ञासा को दूर कर देते हैं| वर्ष 1987 में Hongkong और Shanghai banking corporation ने मिलकर भारत की आर्थिक राजधानी Mumbai में पहली बार ATM लगाया था|

इसके साथ यदि आपको digital marketing के बारे में जानकारी चाहिए तो आप digital marketing in hindi को पढ़ सकते हैं

क्या आप जानते हैं ये रोचक तथ्य ?

साथियों, अब हम आपको बताने जा रहे हैं ATM से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में| तो अगर आपको भी जानना है की ATM से जुड़े कौन से रोचक तथ्य हैं तो इस article को ध्यान से पढ़िएगा| वो तथ्य इस प्रकार हैं : –

अगर दुनिया के सबसे ऊँचे ATM की बात की जाए तो इसे नाथुला पास में लगाया गया था| नाथुला पास सिक्किम में स्थित है| इस ATM की ऊंचाई जानकार आप हैरान रह जाएंगे| दुनिया के सबसे ऊँचे ATM की ऊंचाई थी 14300 फीट के करीब| जबकि बाद में इससे भी ऊंचा ATM पाकिस्तान में लगाया गया| वो ATM 15397 फीट की ऊंचाई पर पाकिस्तान के खूंजेराब में लगाया गया था|

शायद आप सोच रहे होंगे की ATM को पूरी दुनिया में एक ही नाम से बुलाया जाता है| जी नहीं दोस्तों, अलग अलग जगहों पर ATM को अलग अलग नामों से जाना जाता है| बात की जाए Australia और Canada की तो यहाँ ATM मशीन को money machine के नाम से जाना जाता है| वैसे ही UK और Newzealand में ATM को कैश पॉइंट कहा जाता है|

निष्कर्ष : (Conclusion)

तो दोस्तों, आज आपने A to Z जाना की atm क्या है ? आपको Full Form of ATM के बारे में भी पता चल गया है| इसे कैसे इस्तेमाल किया जाता है ये भी आपको पता चल गया है| आपको इस आर्टिकल में ये भी मालूम हुआ की कब और कहाँ दुनिया का पहला ATM लगाया गया| 

जिस व्यक्ति ने ATM का आविष्कार किया उसके बारे में भी आपको अब पता चल गया| हमने आपको ये भी बताया की दुनिया का सबसे ऊंचा ATM कहाँ लगाया गया है| आपसे हम लेते हैं इजाज़त| इस वादे के साथ की एक और नई जानकारी आपके लिए हम लेकर आएंगे| नमस्कार|

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest articles

Quinoa in Hindi Name और इसके फायदों की पूरी जानकारी सिर्फ यहां

Quinoa in Hindi Name: भारत के लोगों में क्विनोआ खाने का क्रेज तेजी से बढ़ता जा रहा है। हालांकि यह आसानी...

Hindi Varnamala Chart को विस्तार से जानिए

आज हम आपके लिए लाए हैं Hindi Varnamala Chart| इसमें आप ए से के तक Hindi Varnamala Chart कि सभी शब्दों...

मोटापे से हैं परेशान? तो Ragi in Hindi में जानिए इसके लाभ और नुकसान।

रागी के फायदे वजन कम करने में ही नहीं प्रोटीन से भरपूर रागी खाने के और भी कई फायदे हैं। शरीर...

टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि सेवन, दाम्पत्य जीवन होगा सुखी

टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि की पूरी जानकारी आपको हमारे इस article में मिलेगी| अगर आपकी भी s*x टाइमिंग कमजोर है...

ब्लड टेस्ट से जाने बाल झड़ने का 12 कारण

वर्तमान में 70 प्रतिशत युवा बाल झड़ने की समस्या से जूझ रहे हैं। बालों के झड़ने का कारण क्या है, इसके...

Newsletter

Subscribe to stay updated.