How to Train Dogs | कुत्तों को कैसे प्रशिक्षित करें

हैल्लो फ्रेंड्स, हाउ आर यू। फ्रेंड्स, आपने अक्सर देखा होगा लोग अपने घरों में डॉग को पालते हैं। कुछ लोग शौक के लिए, तो कुछ लोग रौब के लिए, कुछ चोरों को भगाने के लिए, कुछ लोग मेहमानों को गेट पर से ही वापस भगाने के लिए घरों में डॉग पालते हैं। जब आप किसी ऐसे व्यक्ति के घर जाते हैं जिनके पास डॉग है तो वो आपके सामने उस डॉग को ऐसे ट्रीट करते हैं जैसे की वो उन्हीं का बच्चा हो dog training tips in hindi । इतना ही नहीं, बदले में वो डाॅग भी अपने मालिक की हर इंस्ट्रक्शन फाॅलो करता है। 

जैसे खाना खाना, शोर न मचाना, कहने पर बैठ जाना, हैंड शेक करना आदि। यह देखकर आपके मन में भी ख्याल आता होगा कि आखिर ये ऐसा करते कैसे हैं। ऐसी कौन सी टेकनीक उन्होंने अपनाई है कि ये डाॅग उनकी सारी dog training tips in hindi बात मानता है। चलिए आज हम आपको वो टेकनीक बताएंगे जिसके बाद आपका डाॅग भी आपकी सारी बातें मानेगा। हमारे इस लेख को ध्यान से और लास्ट तक पढ़िएगा।

समरी: फ्रेंड्स, आज इस आर्टिकल में आप विभिन्न प्रकार के टिप्स सीखेंगे अपने डाॅग को ट्रेन करने के लिए। इसमें शामिल हैं डाॅग को 

  • पब्लिक डीलिंग सिखाना
  • खाना खाने का सही तरीका सिखाना
  • उठना बैठना व हैंड शेक सिखाना

ऐसे ट्रेन करें जर्मन शैफर्ड डाॅग ?

"desi dog	"

दोस्तों, अगर आपके पास कोई जर्मन शैफर्ड ब्रीड का डाॅग है और आप उसको अपनी इंस्ट्रक्शन फाॅलो करना सिखाना चाहते हैं, तो आप बिलकुल सही जगह आए हैं। इसमें कोई शक नहीं कि जर्मन शैफर्ड dog training tips in hindi बहुत ही चंचल, बुद्धिमान और प्रभावशाली ब्रीड है। 

इस ब्रीड को पसंद करने वाले लोगों की संख्या भारत में सबसे ज़्यादा है। आपको 10 में से 7 घरों में जर्मन शैफर्ड डाॅग देखने को मिल जाएगा। जर्मन शैफर्ड को भारत में बेस्ट डाॅग ब्रीड की श्रेणी में रखा गया है। 

अगर आपके पास भी जर्मन शैफर्ड है और आप उसको ट्रेन करना चाहते हैं तो हमारे द्वारा दिए गए टिप्स फाॅलो करें। अगर आपने अपने जर्मड शैफर्ड डाॅग को ट्रेन्ड नहीं किया तो वह आपको आपके दोस्तों या रिश्तेदारों के आगे परेशान और शर्मिंदा कर सकता है।

इस डाॅग को ट्रेनिंग आप दो तरीके से करवा सकते हैं। पहला तो ये कि आप अपने जर्मन शैफर्ड को ट्रेन करने के लिए एक अच्छा और अनुभवी डाॅग ट्रेनर हायर कर सकते हैं। अगर ट्रेनर रखना आपके बजट में नहीं है तो आप अपने बिजी शिड्यूल में से समय निकाल कर उसे घर पर खुद भी ट्रेन्ड कर सकते हैं। 

अब आपके मन में यह सवाल आना लाज़्मी है दोस्तों, कि आपको तो कोई जानकारी और अनुभव ही नहीं है, फिर भला आप उसे घर पर ट्रेन करेंगे कैसे? इसका जवाब हमारे लेख में है।

दोस्तों, जर्मन शैफर्ड डाॅग को ट्रेन करने के आप अलग-अलग तरीके अपना सकते हैं। लेकिन उससे पहले आपके लिए यह जानना जरूरी है कि आखिर इसे ट्रेनिंग देने की सही उम्र क्या है? 

डॉग को ट्रेनिंग देने की सही उम्र क्या है ?

एक जर्मन शैफर्ड को ट्रेनिंग देने की सही उम्र होती है आठ हफ्ते। दोस्तों, 8 हफ्तों का जर्मन शैफर्ड डाॅग इस लायक हो जाता है कि उसे आप आसानी से ट्रेनिंग दे सकें। वे इस उम्र में जल्दी और आसानी से सब कुछ सीख जाते हैं।

पब्लिक डीलिंग: 

आपको इस बात का खास ख्याल रखना है कि आपको अपने डाॅग को पहले ही दिन से ट्रेनिंग नहीं देनी है dog training tips in hindi । शुरूआती दिनों में आपको अपने डाॅग के लिए अलग से टाइम निकालना पड़ेगा। 

आपको इस बात का खास ख्याल रखना है कि आपको अपने डाॅग को पहले ही दिन से ट्रेनिंग नहीं देनी है dog training tips in hindi । शुरूआती दिनों में आपको अपने डाॅग के लिए अलग से टाइम निकालना पड़ेगा। आपको इस बात का खास ख्याल रखना है कि आपको अपने डाॅग को पहले ही दिन से ट्रेनिंग नहीं देनी है dog training tips in hindi । शुरूआती दिनों में आपको अपने डाॅग के लिए अलग से टाइम निकालना पड़ेगा। 

आपको इस बात का खास ख्याल रखना है कि आपको अपने डाॅग को पहले ही दिन से ट्रेनिंग नहीं देनी है dog training tips in hindi । शुरूआती दिनों में आपको अपने डाॅग के लिए अलग से टाइम निकालना पड़ेगा। 

आप सैर करने के दौरान अपने डाॅग को बीच-बीच में बैठने और उठने की कमांड भी देते रहें। हां, शुरू में वो आपकी बात नहीं मानेगा। लेकिन काफी समय तक ऐसा दोहराने पर वह आपके इशारे समझ जाएगा। जब वह आपकी कमांड फाॅलो करे तो आप उसे प्यार करें। 

उसे खूब शाबाशी दें। जैसे: गुड बाॅय, मेरा प्यारा बच्चा, शाबाश टाॅमी या फिर गुड हैबिट शेरू आदि। केवल शाबाशी dog training tips in hindi देने से काम नहीं चलेगा। आपको उसे कुछ खाने को भी देना पड़ेगा। फिर आपका डाॅग समझ जाएगा कि आगर वह आपकी बात मानेगा तो उसे शाबाशी, प्यार और ट्रीट जरूरी मिलेगी।

2.  खाने का सही तरीका

जो लोग जर्मन शैफर्ड डाॅग या कोई भी अन्य ब्रीड का डाॅग पालते हैं उनके सामने एक और समस्या आती है। वो यह है कि डाॅग अपने सामने खाना देखकर उसे पाने के लिए जम्प करने लगते हैं। बहुत ज़्यादा एक्साइटेड हो जो हैं। कई बार इसी चक्कर में वो आप पर हमला भी कर देते हैं। इन्हें बस एक ही चीज़्ा दिखती है और वो है खाना। कई बार तो इनकी एक्साइटमेंट इतनी बढ़ जाती है और ये उसपर ऐसे झपट्टा dog training tips in hindi मारते हैं कि वह खाना गिरा भी देते हैं। या फिर जाने अनजाने आपको चोट भी पहुंचा सकते हैं। अगर आपका डाॅग भी ऐसा करता है दोस्तों, तो अपना इये हमारी टिप्स। आप देखेंगे कि जल्दी ही उसकी से आदत सुधर जाएगी।

स्टेप 1

जब भी आप अपने डाॅग को कुछ खाने को दें और वो उस पर झपट्टा मारे या फिर जम्प करे तो आप अपना हाथ तुरंत पीछे खीच लें। साथ ही आप उसे जोर से डांट लगाएं और ऐसा करने से उसे मना करें। जैसे: नो, बैड मैनर्स, दिस इस राॅंग, ऐसा नहीं करते टाॅमी, गंदी बात आदि। या फिर आप अपनी लोकल भाषा का भी प्रयोग कर सकते हैं उसे समझाने के लिए। 

स्टेप 2

जब तक ये जम्प करना या खाने पर झपटना छोड़ नहीं देता तब तक आप इस प्रक्रिया को दोहराते रहें। जब भी खाना दें और वो झपटे तो उसे डांटें। धीरे-धीरे डाॅग समझ जाएगा कि उसे यह नहीं करना dog training tips in hindi है और खाना मिलने पर शांत रहना है। फिर आप देखेंगे कि डाॅग आपकी परमीशन से ही खाना खाएगा। अगर आपने मना कर दिया तो खाना नहीं खाएगा। फिर आप इसे शाबाशी और प्यार दें। करीब 3 से 4 दिन में आपके डाॅग की यह आदत छूट जाएगी।

यदि आप हिंदी कीबोर्ड पे टाइपिंग करना सीखना चाहते हैं कृपया इससे जरूर पढ़ें hindi typing tutor

3 उठना बैठना व शैक हैंड करना dog training tips in hindi

दोस्तों, सबसे ज़्यादा चंचल और प्लेफुल डाॅग अगर कोई होता है तो वो है जर्मन शैफर्ड। इस कारण ये मस्ती dog training tips in hindi और काफी ज़्यादा उछल कूद करते हैं। इस कंडीशन में या तो आपको इन्हें बांधना पड़ता है। या फिर एक जगह शांत बैठने की उसे कमांड देनी होती है। अगर डाॅग आपकी बात न माने तो? इसके लिए हम आपको एक रामबाण जर्मन शैफर्ड ट्रेनिंग टिप्स देने वाले हैं। फिर आप जब भी अपने जर्मन शैफर्ड डाॅग को इंस्ट्रक्शन देंगे वो उसे फाॅलो करेगा।

टिप 1 

दोस्तों, जैसा कि हमने आपको पहले भी समझाया था। आपको हमारा रूल 1 लागू करना होगा। जब भी आप अपने डाॅग को dog training tips in hindi घुमाने के लिए ले जाएं तो बीच-बीच में उसे उठने और बैठने की कमांड देते रहें। इससे ये होगा कि आपका डाॅग उन कमांड्स का मतलब आसानी से समझ लेगा। 

सबसे पहले आप इसे कहीं अच्छी जगह जैसे पार्क में घुमाने ले जाएं। इससे यह खुश हो जाएगा। यहां इसे थोड़ी देर घुमाएं। इसके बाद उसे शेक करने की कमांड दें। आप उसका हाथ पकड़ कर उसे बताएं कि हैंड शेक ऐसे करते हैं। 

साथ में कमांड भी दें। हो सकता है कि शुरू में वह आपकी कमांड न समझे। पर आपको हिम्मत नहीं हारनी है। ऐसा करते रहना है। आपको रोज़्ा यह काम थोड़ी-थोड़ी देर के लिए करना है। डाॅग को अगर आप एक ही बार में सब ट्रेनिंग देने लगेंगे तो वह सीख नहीं पाएगा और परेशान होगा या चिड़चिड़ा हो जाएगा। 

अब बताते हैं सेकेंड स्टेप।

टिप 2

मान लीजिए आपने कोई नया काम सीखा। आपने कुछ दिन तो उस काम को किया फिर आपकी आदत छूट गई और फिर आपको वही काम करने को दिया जाए तो आप कर पाएंगे? नहीं। आप सब कुछ भूल चुके होंगे। ऐसा ही डाॅग के साथ भी है। 

टिप 3  

अगर इससे थोड़े-थोड़े दिनों में कमांड फाॅलो न करवाएं तो यह भूल जाएगा और हमारी कमांड को नहीं फाॅलो dog training tips in hindi कर पाएगा। हमे डाॅग की यह आदत बनाए रखनी है। कुछ दिनों के अंतराल पर उसे कमांड देते रहें। जैसे: नो शैम्पू (डाॅग), बैठ जाओ, शैम्पू गुड बाॅय आदि। इसके लिए आप अपने डाॅग को कमांड फाॅलो करने पर प्यार करें और उसकी गरदन को भी सहलाएं। उसे शाबाशी भी दें और खाने को उसकी मनपसंद चीज़ें भी दें।

निष्कर्ष:  

आज हमारे इस आर्टिकल की मदद से आपने ये जाना कि डाॅग को ट्रेनिंग dog training tips in hindi कैसे दें। हमारे द्वारा बताए गए डाॅग को ट्रेनिंग देने के तरीके आपको कैसे लगे हमें कमेंट करके जरूर बताएं। फिर मिलेंगे एक नई जानकारी के साथ। नमस्कार। 

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest articles

Quinoa in Hindi Name और इसके फायदों की पूरी जानकारी सिर्फ यहां

Quinoa in Hindi Name: भारत के लोगों में क्विनोआ खाने का क्रेज तेजी से बढ़ता जा रहा है। हालांकि यह आसानी...

Hindi Varnamala Chart को विस्तार से जानिए

आज हम आपके लिए लाए हैं Hindi Varnamala Chart| इसमें आप ए से के तक Hindi Varnamala Chart कि सभी शब्दों...

मोटापे से हैं परेशान? तो Ragi in Hindi में जानिए इसके लाभ और नुकसान।

रागी के फायदे वजन कम करने में ही नहीं प्रोटीन से भरपूर रागी खाने के और भी कई फायदे हैं। शरीर...

टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि सेवन, दाम्पत्य जीवन होगा सुखी

टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि की पूरी जानकारी आपको हमारे इस article में मिलेगी| अगर आपकी भी s*x टाइमिंग कमजोर है...

ब्लड टेस्ट से जाने बाल झड़ने का 12 कारण

वर्तमान में 70 प्रतिशत युवा बाल झड़ने की समस्या से जूझ रहे हैं। बालों के झड़ने का कारण क्या है, इसके...

Newsletter

Subscribe to stay updated.